जल परिवहन क्या है? इसकी प्रमुख विशेषताएँ एवं विश्व के प्रमुख आंतरिक जलमार्ग

what is water transport ?

जल परिवहन क्या है :- जल के माध्यम से होने वाला परिवहन जल परिवहन कहलाता है।

जल परिवहन की विशेषताएँ :- जल परिवहन की प्रमुख विशेषताएँ निम्न प्रकार से है –

  1.  परिवहन के सभी साधनों मे जल परिवहन मुख्यत : सबसे सस्ता तथा आसान साधन है।
  2.  जलमार्ग नदियों , नहरों , झीलों  व समुद्रों मे होकर गुजरते है।
  3.   जलमार्ग के निर्माण के लिए ज्यादा खर्चा नहीं करना पड़ता है, लेकिन पोताश्रयों के निर्माण, जल मार्गों को गहरा और सुरक्षित रखने आदि पर कुछ धन व्यय होता है।
  4.  नौकाएँ, जलपोल (जलयान) आदि जल परिवहन के प्रमुख साधन है ।
  5.  सामन्यात: सस्ते और भारी पदार्थ, कोयला, लोहा अयस्क, लोहा इस्पात, सीमेंट, अनाज आदि को उठाने की लिए जलयानों का प्रयोग किया जाता है।
  6.  नदियों तथा झीलों मे जल की गहराई और मात्रा के अनुसार नौकाएँ तथा छोटे-बड़े जलपोत भी चलते है।
  7.  जल परिवहन को दो भागों मे बाटाँ गया है –
    1.  आंतरिक जलमार्ग
    2.  समुद्री या महासागरिय जलमार्ग

विश्व के प्रमुख आंतरिक जलमार्ग- विश्व के प्रमुख आंतरिक जलमार्ग निम्न प्रकार से है –

(1) यूरोप के आंतरिक जलमार्ग – यूरोप के उत्तर-पश्चिम मे अटलांटिक महासागर और दक्षिण मे भूमध्य सागर मे गिरने वाली नदिया यूरोपीय देशों को अन्तराष्ट्रीय व्यापार की सुविधा देती है| उत्तर की और बहने वाली राइन, सीन, नदियों, दक्षिण की और बहने वाली डेन्यूब, नीपर और कैस्पियन सागर मे गिरने वोल्गा नदी निचले भागों का उपयोग जल परिवहन की लिए किया जाता है।  राइन नदी का जलमार्ग विश्व का सबसे ज्यादा उपयोग मे लाया जाने वाला आंतरिक जलमार्ग है।

(2) उत्तरी अमेरिका के आंतरिक जलमार्ग- संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा की बीच स्थित महान झीलों मे आंतरिक जल परिवहन विकसित अवस्था मे है।  सुपीरियर, मिसिगन, और इरी झील से होकर सेंटलोरेंस नदी के मुहाने तक जलपोतो के आने -जाने के सुविधा से यह एक प्रमुख व्यापारिक मार्ग है।  मिसीसिपी, मिसौरी, नदिया भी नौकागम्य है जो की औद्योगिक नगरों को जोड़ती है।  कनाडा मे महान झील मार्ग के अतिरिकत मेकेनजी और औटाव नदियों मे भी जल परिवहन होता है परंतु शीत ऋतु मे बर्फ जाम जाने से इसमे बाधा आती है।

(3) आस्ट्रेलिया के आंतरिक जलमार्ग – आस्ट्रेलिया मे केवल मर्रे तथा डार्लिंग नदियों के मुहाने से लगभग 1500 किमी अंदर तक जलपोत पहुच सकते है।  अन्य नदिया नौगम्य नहीं है।

(4) अफ्रीका के आंतरिक जलमार्ग – अफ्रीका मे नील, काँगो, नाइजर आदि कई बड़ी नदिया है।  लेकिन नील नदी केवल मुहाना प्रदेश मे ही नौगम्य है किन्तु नाइजर और काँगो नदियों के मुहाने से लेकर लगभग 1100 किमी भीतरी भाग तक जल परिवहन की सुविधा है।

(5) एशिया के आंतरिक जलमार्ग – एशिया मे चीन मे आंतरिक जलमार्ग सबसे ज्यादा विकसित है।  यँहा हवांगहों नदी अपने मुहाने से लगभग 200 किमी तक नौगम्य है | यांगटीसिकयाँग नदी भी मुहाने पर स्थित शंघाई नगर से लेकर क्यूकियाँग  तक नौका जाने योग्य है।  भारत मे गंगा और ब्रह्यपुत्र आंतरिक जल परिवहन की नदिया है।

(6) दक्षिण अमेरिका के आंतरिक जलमार्ग – उत्तरी भाग मे पश्चिम से पूर्व के और बहने वाली विशाल नदी अमेजन अपनी सहायक नदियों सहित लगभग 30,000 किमी लंबा जलमार्ग प्रदान करती है।  दक्षिणी ब्राजील, अर्जेन्टीना और उरुग्वे को पराना, परागवे तथा प्लाटा नदियों के जलमार्ग के सुविधा है, जँहा मुहाने से लगभग 1500 किमी अंदर तक जलयान आसानी से पहुच जाते है।

Share this

Leave a Comment

Your email address will not be published.