Join WhatsApp 👆 WhatsApp Group Link

History

chand baori

चांद बावड़ी (अंधेरे- उजाले कि बावड़ी) आभानेरी

सामान्य जानकारी : चांद बावड़ी राजस्थान के दौसा जिले के आभानेरी कस्बे में स्थित है जो बांदीकुई रेलवे स्टेशन से 8 किलोमीटर दूर साबी नदी के निकट पड़ती है चांद बावड़ी राजस्थान की ही नहीं अपितु संपूर्ण भारत की प्राचीनतम बावड़ी है जो आज भी लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र है | बावड़ी की …

चांद बावड़ी (अंधेरे- उजाले कि बावड़ी) आभानेरी Read More »

महाराणा प्रताप (हल्दी घाटी का युद्ध )

महाराणा प्रताप का जन्म 9 मई 1540 ई. में रविवार के दिन विक्रम संवत 1597 को कुंभलगढ़ दुर्ग के बादल महल में हुआ। महाराणा प्रताप उदय सिंह के जेष्ठ पुत्र थे इनकी माता का नाम महारानी जयवंता बाई था जो पाली के सोनगरा अखैराज की बेटी थी। महाराणा प्रताप का विवाह 1557 इसी में महारानी …

महाराणा प्रताप (हल्दी घाटी का युद्ध ) Read More »

bhangadh bhuton ka mahal

भूतों का महल भानगढ़ दुर्ग – Pehle Study

भानगढ़ दुर्ग (Bhangadh Fort) गोला गाँव के पास स्थित हैं जो कि अलवर जिले के सरिस्का अभ्यारण कि सीमा पर स्थित हैं | यह किला अपनी भौतिक बनावट से ज्यादा अपने भूतीया किस्सों व कहानियों के कारण ज्यादा प्रसिद्ध है तथा चर्चा में बना हुआ हैं | भानगढ़ दुर्ग का निर्माण लगभग 1573 ई. वी …

भूतों का महल भानगढ़ दुर्ग – Pehle Study Read More »